Connect with us

बचल खुचल

यह पानी नहीं दवा है क्या आपको इसकी जरूरत है

mm

Published

on

बदलते लाइफस्टाइल और खान-पान के चलते शरीर में टॉक्सिन्स पदार्थ बनते हैं| जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत खतरनाक होते हैं, और यह भयानक बीमारियों का रूप ले लेते हैं| इसलिए इन टॉक्सिन्स पदार्थ को शरीर से बहार निकालना बहुत जरूरी होता है| अगर आप सोच रहे हैं कि इन  टॉक्सिन्स को शरीर से कैसे निकाला जा सकता है|  आपको बता दें कि इसके लिए आप अपनी बॉडी को डेटॉक्स वाटर से साफ़ कर सकते हैं|
यह न केवल आपकी बॉडी को डेटोक्स करता है बल्कि वजन कम करने में और आपकी पाचन क्रिया को भी स्वस्थ बनाने में सहायक होता है| डेटॉक्स वाटर कई तरीकों से बनाया जाता है आपको घरेलू निर्माण का तरीका बताते हैं|

डेटॉक्स वाटर बनाने की विधि
एक नीँबू ,खीरा, छोटा टुकड़ा अदरक और 5 -6  पोदीने के पत्ते ले | इन सबको एक कांच की बोतल या कांच के गिलास में डालकर ऊपर से पानी भरकर रख दे| अब इसे 6 से 8 घंटे छोड़ दे| इस डेटॉक्स वाटर का रोजाना सेवन करने से शरीर में से जहरीले पदार्थ बाहर निकलने लगते हैं|

बचल खुचल

उन्होंने बचपन में ही कह दिया था इन अंग्रेजों की किताब तो बिलकुल नहीं पढ़ूँगा

mm

Published

on

पूरा विश्व 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस के उपलक्ष में स्वामी विवेकानंद जी की जयंती को मनाता है| “स्वामी विवेकानंद ने राष्ट्र निर्माण और सार्वभौमिक भाईचारे के प्रति युवा शक्ति को बहुत महत्व दिया था। भारत के महान आध्यात्मिक और सामाजिक नेताओं में से एक, स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन को सम्मानित करने के लिए12 जनवरी को चुना गया था। इस दिन देश भर में जगह जगह  परेड, खेल कार्यक्रम, संगीत, सम्मेलन, स्वयंसेवक परियोजनाओं, और युवा उपलब्धियों के प्रदर्शनों जैसे कार्यक्रम किये जाते हैं| स्वामी विवेकानंद भारत के एक हिंदू  भिक्षु थे। स्वामी जी ने 19 वीं और 20 वीं शताब्दी के बढ़ते भारतीय राष्ट्रवाद में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, हिंदू धर्म के कुछ पहलुओं को फिर से परिभाषित और सामंजस्यपूर्ण बनाया। उनकी शिक्षाओं और दर्शन ने इस पुनर्व्याख्या को शिक्षा, विश्वास, चरित्र निर्माण के साथ-साथ भारत से संबंधित सामाजिक मुद्दों पर लागू किया था| स्वामी जी ने पश्चिम में योग को शुरू करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी | विवेकानंद के अनुसार एक देश का भविष्य उसके लोगों पर निर्भर करता है|

जिसमें कहा गया है कि “मानव-निर्माण मेरा मिशन है।”  धर्म इस मानव-निर्माण में एक केंद्रीय भूमिका निभाता है, जिसमें “मानव जाति को अपनी दिव्यता का प्रचार करने के लिए, और इसे जीवन के हर आंदोलन में कैसे प्रकट किया जाए|

Continue Reading

बचल खुचल

क्यों मनाई जाती हैं ज्योतिराव फुले की जयंती?

mm

Published

on

२8 नवंबर को 19वीं सदी के हमारे एक भारतीय महान विचारक, समाज सेवी, लेखक ज्योति गोविंदराव फुले की जयंती मनाई जाती है। इन्हें एक महान समाज सुधारक कहा जाता है क्योंकि फुले ने सदैव महिलाओं व दलितों के उत्थान के लिए कार्य किए थे। इनके जीवन में कुछ मुख्य उद्धेश्य थे। जैसे समाज के सभी वर्गाें को शिक्षा प्रदान करवाना, जाति पर आधारित विभाजन और होने वाले भेदभाव के विरूद्ध आवाज उठाना।
इनका पूरा जीवन स्त्रियों को शिक्षा प्रदान करवाने, बाल विवाह के विरूद्ध, स्त्रियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने में, विधवा विवाह का सर्मथन करने में व्यतीत हो गया। फुले समाज को कुप्रथा, अंधश्रद्धा की जाल से समाज को मुक्त करना चाहते थे। इसलिए ज्योतिराव फुले ने सभी कार्य महिलाओं के हित में किए। वह महिलाओं को स्त्री-पुरूष भेदभाव से बचाना चाहते थे।
जब 19वीं सदी में स्त्रियों को शिक्षा नहीं दी जाती थी। उस समय उन्होंने दृढ़ निश्चय किया कि वह समाज में क्रांतिकारी बदलाव लाकर रहेंगे। इसलिए उन्होंने कन्याओं के लिए भारत देश की पहली पाठशाला पुणे मे बनवाई।
सर्वप्रथम बदलाव स्वंय फुले के घर में देखने को मिला। उन्होंने अपनी धर्मपत्नी सावित्रीबाई फुले को स्वंय शिक्षा पदान की थी और वह भारत की प्रथम महिला अध्यिापिका बनी थी।
फुले ने अपने दौर में धर्म समाज, परपराओं के सत्य को सामने लाने के लिए गुलामगिरी, तृतीय रत्न, किसान का कोड़ा, अछुतों की कैफियत फयत, राजा भोसला का पखड़ा नामक कई पुस्तकें लिखी।
फुले तथ उनके संगठन के संघर्ष के कारण सरकार ने एग्रीकल्चर एक्ट पास किया था। अंतिम यात्रा से पहले फुले ने भारत में सत्यशोधक समाज की स्थापना की थी| 28 नवंबर 1890 को ज्योतिराव फुले ने धरती पर अंतिम सांसे ली।

Continue Reading

बचल खुचल

आज क्यों मनाई जाती है वाल्मिकी जयंती

mm

Published

on

valmiki jayanti

वाल्मिकी जयंती रामायण महाकाव्य के रचियता महर्षि वाल्मिकी के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है। वाल्मिकी जी महाकाव्य रामायण के रचियता है। जो 21 भाषाओं में उपलब्ध है। रामायण नामक महाकाव्य के रचियता अर्थात् वाल्मिकी जी को ‘आदिकवि‘ भी कहा जाता है।
वाल्मिकी जयंती के दिन भक्त मदिंरों में जाकर रामायण पढते हैं। इसमें 24000 ष्लोक होते हैं। वाल्मिकी जी का एक प्रसिद्व एंव विख्यात मंदिर तिरूवानतियुर नामक स्थान पर स्थित है। मान्यता है कि यह मंदिर 1300 साल पुराना है।

Continue Reading
whitemirchiexclusive7 hours ago

केंद्र सरकार इस बार कुछ नए तरीकों से मनाएगी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती

वाह ज़िन्दगी1 week ago

आपातकाल में मकरसंक्रांति कैसे मनाएं ?

सिटी न्यूज़1 week ago

खजानी वूमैनस वोकेशनल इइंस्टिट्यूट में मनाया गया लोहड़ी पर्व

खास खबर1 week ago

जिला प्रशासन की पहली इलेक्ट्रिक कार को उपायुक्त यशपाल ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

सिटी न्यूज़1 week ago

सूर्या नगर फेस 1 सेक्टर 91 में स्थानीय लोगों के साथ रूबरू होने पहुंचे विधायक राजेश नागर

सिटी न्यूज़1 week ago

स्वामी विवेकानंद की 157वीं जयंती पर मानव रचना में पर्यावरण युवा मंच 2021 के लिए विश्वविद्यालय स्तर की प्रतियोगताएं

सिटी न्यूज़1 week ago

रोटरी क्लब ऑफ फरीदाबाद मिडटाऊन ने बुजुर्गो और मजदूरों को बांटी 100 गर्म जेकिट

सिटी न्यूज़1 week ago

उपायुक्त कार्यालय पर कर्मचारी एवं मजदूरों ने किया जोरदार प्रदर्शन

सिटी न्यूज़1 week ago

दोस्त का हालचाल जानने पहुंचे परिवहन मंत्री

सिटी न्यूज़1 week ago

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय स्टार्टअप को प्रोत्साहन देगा

वाह ज़िन्दगी1 week ago

आपातकाल में मकरसंक्रांति कैसे मनाएं ?

खास खबर2 weeks ago

नहरपार क्षेत्र में बस सेवा शुरू करने की जोरदार मुहिम शुरू

बचल खुचल2 weeks ago

उन्होंने बचपन में ही कह दिया था इन अंग्रेजों की किताब तो बिलकुल नहीं पढ़ूँगा

सिटी न्यूज़1 week ago

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय स्टार्टअप को प्रोत्साहन देगा

सिटी न्यूज़1 week ago

दोस्त का हालचाल जानने पहुंचे परिवहन मंत्री

सिटी न्यूज़2 weeks ago

नहर पार से उठी आवाज, हमें मिले अलग नगर निगम आज

whitemirchiexclusive1 week ago

16 जनवरी से हरियाणा में शुरू होगा वैक्सीनेशन, जानिए कब किसको मिलेगी डोज

सिटी न्यूज़2 weeks ago

बहरे निगम को जगाने के लिए बजाए ढोल

खास खबर1 week ago

जिला प्रशासन की पहली इलेक्ट्रिक कार को उपायुक्त यशपाल ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

बक Lol2 weeks ago

नगर निगम ने फरीदाबाद शहर को बना दिया कूड़े का ढेर – जसवंत पवार

WhiteMirchi TV10 months ago

अपनी छाती न पीटें, मजाक न उड़ाएं…. WhiteMirchi

WhiteMirchi TV10 months ago

लेजर वैली पार्क बना किन्नरों की उगाही का अड्डा WhiteMirchi

WhiteMirchi TV10 months ago

भांकरी फरीदाबाद में विद्यार्थी तेजस्वी तालीम शिविर में भाग लेंगे फौगाट स्कूल के बच्चे| WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

महर्षि पंकज त्रिपाठी ने दी कोरोना को लेकर सलाह WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

डीसी मॉडल स्कूल के छात्र हरजीत चंदीला ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन | WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

हरियाणा के बच्चों को मिलेगा दुनिया घूमने का मुफ्त मौका WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

किसी को देखकर अनुमान मत लगाओ! हर लुंगी पहनने वाला गंवार या अनपढ़ नहीं होता!! WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

संभल कर चलें, जिम्मेदार सो रहे हैं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV11 months ago

शहीद परिवार की हालत जानकर खुद को रोक नहीं सके सतीश फौगाट। WhiteMirchi

लोकप्रिय