Connect with us

बचल खुचल

ज्यादा प्रोटीन भी कर सकती है आपका नुक्सान

mm

Published

on

आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में सभी को अपना स्वास्थ्य अच्छा चाहिए, लेकिन इस तनावग्रस्त जिंदगी में लोग अपना ख्याल नहीं रख पाता है| इसी कारण व्यक्ति के शरीर में अनेक विकार उत्पन्न होने लगते हैं| 

लोग बाहर का उल्टा सीधा खाना खाते हैं जिससे उनकी पाचनक्रिया खराब हो जाती है| गैस बनने लगती है, पेट में दर्द होने लगता है| लोग अपने अंदर प्रोटीन बढ़ाने में लगते हैं जिससे उन्हें कोई कमजोरी फैट न हो, उसके लिए वह मीट-मछली और प्रोटीन युक्त खाना खाने लगते हैं, जिससे उन्हें कब्ज़ और गैस होने लगती है| 
शरीर में ज्यादा प्रोटीन होने की वजह से गैस और कब्ज की परेशानी होती है, जो अन्य पेट की समस्याओं को भी जन्म देती है। ऐसे में जरूरी है कि आप कोई ऐसी डाइट लें जो शरीर में तमाम खनिजों को संतुलित करते हुए गैस और कब्ज की परेशानियों को पैदा न करे। 

आज हम आपके लिए ऐसे ही शाकाहारी डाइट लाएं है, जिसमें प्रोटीन की निम्न मात्रा भी है और ये तमाम अन्य खनिजों से संतुलित भी है। तो आइए जानते हैं, क्या है ये डाइट।

स्टार्च और अनाज से मुक्त उत्पाद जैसे शकरकंद और ब्रेड आदि खाएं। मेवे जैसे कि नट्स, अखरोट, तिल और अखरोट आदि का भी सेवन करें। फलों में एवोकैडो, जामुन और नारियल आदि का सेवन करें व सब्जियों में मशरूम, ब्रोकोली, पालक, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, भिंडी, गाजर, मूली, बीट्स आदि लें। 
वहीं अगर डेयरी प्रोडक्ट्स की करें, तो बकरी का दूध और पनीर, क्रीम, मक्खन, जैतून का तेल, नारियल तेल और एवोकैडो आदि का सेवन करें।इस तरह आप इस डाइट की मदद से अपने पेट को शांत और हेल्दी बना कर रख सकते हैं। 
ये डाइट आपके स्किन को भी डिटॉक्स करने में मदद कर सकता है। ये शरीर में ब्लड प्रेशर को भी सही रखता है और हर तरीके से आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। 
तो एक बार जरूर ट्राई करें ये डाइट। इस डाइट को फॉलो करे और अपने स्वास्थ्य तथा अपनी पाचनक्रिया को अच्छा एवं स्वस्थ रखें|

बचल खुचल

गिलोय के काढ़े से करें इम्युनिटी बूस्ट

mm

Published

on

kadha

आज के समय में अपनी इम्युनिटी को मजबूत रखना बहुत ही मुश्किल है,लेकिन इम्युनिटी मजबूत होने से आप कई तरीकों के संक्रमण से बच सकते हैं| इम्म्युंटी बढ़ाने की बात आती है तो अक्सर गिलोय के बारे में बात करते हैं| गिलोय का काढ़ा आप सिर्फ पानी में उबालकर भी बना सकते हैं| लेकिन इसको और भी ज्यादा हेल्थी बनाने के लिए आप इसमें कई और चीजें भी एड कर सकते हैं| काढ़ा बनाते समय आपको चाहिए-2 कप पानीगिलोय की एक अंगुली समान डंडी 1 चम्मच हल्दी 2 इंच अदरक का टुकड़ा 6-7 तुलसी के पत्ते गुड़ तो इस आसान से तरीके से आप अपने गिलोय का काढ़ा बना सकते हैं| लेकिन यह याद रखिये की यह काढ़ा आपको रोसाना 1 कप से ज्यादा नहीं पीना है| 

Continue Reading

बचल खुचल

सूखी खाँसी से कैसे पाएँ छुटकारा?

mm

Published

on

sukhi khasi

यदि आप सभी को भी यह सूखी खाँसी की समस्या है तो यह घरेलू उपाय जरूर अपनाएं-

 गर्म पानी के गरारे:
खांसी और उससे होने वाली गले की तकलीफों से निज़ाद पाने का सबसे  सबसे आसान नुस्खा है गरम पानी के गरारे। सुबह और शाम एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक मिला कर अच्छे से गरारे करने से गले में कष्ट देने वाले कीटाणुओं का नाश हो जाता है और गले को आराम मिलता है।

 तुलसी का काढ़ा:
तुलसी एक बहुमूल्य हर्बल प्लांट है। कहा जाता है की तुलसी खांसी ज़ुकाम और मौसमी बुखार आदि में बहुत उपयोगी होती है। 8 -10 तुलसी से पत्तों को धो कर एक ग्लॉस साफ पानी में तब तक उबालें जब तक की पानी आधा न रह जाये, अब इसे कप में छान कर इसमें शहद मिला कर घूंट घूंट पियें, इससे गले को बहुत आराम मिलता है। सुखी खांसी का कष्ट दूर हो जाता है और इसका कोई भी साइड इफ्फेक्ट नहीं है।

 अदरक:

करीब एक इंच अदरक को कूट कर एक गिलास पानी में पानी आधा रहने तक उबाल लें, फिर शहद मिला कर घूंट घूंट कर पिएं।

अदरक को पीस कर साफ़ कपडे लें और कटोरी में इस रस को इकक्ठा कर के इसमें शहद मिला कर रख लें। अब इसे थोड़ी थोड़ी देर में चाटते रहे। इससे गले की खुश्की को नमी मिलती है और अदरक का रास खांसी में कमी लाता है।

अदरक तासीर में गरम होती है इसलिए ठण्ड से लगी खांसी  में बहुत आराम मिलता है। गले की खींच खींच में भी आराम मिलता है और शरीर में गर्मी बनाये रख़ता है।

 हल्दी:
 हल्दी में बहुत सरे औषधिक गुण होते हैं, ये एंटीसेप्टिक का खज़ाना है इसके सेवन से चेस्ट के इन्फेक्शन में बहुत आराम आता है और खांसी कम होते होते पूरी तरह ख़तम तक हो जाती है।

रात को सोने से पहले गरम दूध में चौथाई चम्मच हल्दी और स्वाद अनुसार चीनी मिला कर पी लें और फिर बहार हवा में न घूमें बस सो जाएं।
दूसरा तरीके में एक कप पानी में एक छोटा चम्मच हल्दी उबालें इसमें चौथाई चम्मच काली मिर्च और एक चुटकी दालचीनी पाउडर मिलाएं कप में परोस कर एक चम्मच शहद के साथ घूंट घूंट कर के पियें।

 नींबू:
 निम्बू विटामिन C का बहुत अच्छा स्त्रोत है और विटामिन C खांसी के इलाज का बहुत अच्छा साबित होता है।

 2 चम्मच नींबू के रस में 1 चम्मच शहद मिलाकर दिन में चार बार लेने से गले की खराश दूर हो जाती है और सूखी खांसी से भी राहत मिलती है।

 लहसुन:
लहसुन में एक प्रकार का एंटीबैक्टीरियल पदार्थ रहता है जो गले के सभी कष्ट तुरंत ही गायब करने में मदद करता है।

एक कप पानी में दो या तीन लहसुन की कलियों को उबालें, हल्का ठंडा होने पर इसमें शहद मिला कर घूंट घूंट पीने से सूखी खांसी में बहुत आराम मिलता है।

प्याज:

आधा चम्मच प्याज के रस में एक छोटा चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार लेने से सुखी खांसी झट से गायब हो जाती है।

पीपल की गांठ
पीपल की गांठ को भी सूखी खांसी में लाभकारी माना गया है। यह एक आजमाया हुआ नुस्खा है, जिससे सूखी खांसी को ठीक करने में मदद मिली है। इसके लिए एक पीपल की गांठ को पीस लें और उसे एक चम्मच शहद में मिलाकर खा लें। रोजाना ऐसा ही करें। इससे कुछ ही दिन में सूखी खांसी ठीक हो जाएगी।

मुलेठी की चाय
मुलेठी का चाय पीने से भी सूखी खांसी में आराम मिलता है। इसे बनाने के लिए, दो बड़ी चम्मच मुलैठी की सूखी जड़ को एक मग में रखें और इस मग में उबलता हुआ पानी डालें। 10-15 मिनट तक भाप लगने दे। दिन में दो बार इसे लें।

 इसके अलावा भाप लेने से भी काफी फायदा होता है। इसके लिए गरम पानी लें और अपने सिर पर एक तौलिया डालकर गरम पानी के ऊपर मुंह ले जाकर भाप लें।

Continue Reading

बचल खुचल

जान लीजिये कैसा दूध पीना चाहिए ?

mm

Published

on

दूध व्यक्ति के लिए कितना जरूरी है ये सब जानते हैं। बच्चा हो या बुजुर्ग सभी को दूध पीना चाहिए। लेकिन दूध गर्म पीना चाहिए या ठंडा? ये सवाल हर किसी के मन में आता है।

कुछ लोग गर्म दूध पीना पसंद करते हैं तो कुछ लोगों को ठंडा दूध अच्‍छा लगता है। इनमें से आपके शरीर के लिए कौन सा बेहतर है? आइए जानते हैं। दोनों तरह से दूध पीने के अलग – अलग फायदे हैं।
आपको बताते हैं कि दूध का सेवन आपको किस तरह करना चाहिए। गर्म दूध पीने का फायदा ये है कि ये आसानी से पच जाता है।  ठंडा दूध पेट में एसिडिटी के कारण होने वाली जलन से राहत पहुँचाता है। खाने के बाद आधा गिलास ठंडा दूध पीने से एसिड की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। ठंडा दूध पीने से आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होती है | लेकिन अगर आप फ्लू और कोल्‍ड से पीड़ित हैं, तो ठंडा दूध पीने से बचें। ठंडा दूध पीने से आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होती है। सुबह के टाइम ठंडा दूध पीने का सबसे अच्छा समय होता है। लेकिन अगर आप फ्लू और कोल्‍ड से पीड़ित हैं, तो ठंडा दूध पीने से बचें।
Continue Reading
WhiteMirchi TV6 months ago

अपनी छाती न पीटें, मजाक न उड़ाएं…. WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

लेजर वैली पार्क बना किन्नरों की उगाही का अड्डा WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

भांकरी फरीदाबाद में विद्यार्थी तेजस्वी तालीम शिविर में भाग लेंगे फौगाट स्कूल के बच्चे| WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

महर्षि पंकज त्रिपाठी ने दी कोरोना को लेकर सलाह WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

डीसी मॉडल स्कूल के छात्र हरजीत चंदीला ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन | WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

हरियाणा के बच्चों को मिलेगा दुनिया घूमने का मुफ्त मौका WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

किसी को देखकर अनुमान मत लगाओ! हर लुंगी पहनने वाला गंवार या अनपढ़ नहीं होता!! WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

संभल कर चलें, जिम्मेदार सो रहे हैं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV7 months ago

शहीद परिवार की हालत जानकर खुद को रोक नहीं सके सतीश फौगाट। WhiteMirchi

लोकप्रिय