Connect with us

खास खबर

480 स्टूडेंट्स का भविष्य बर्बाद होने के कगार पर, अभिभावक गुस्से में

Published

on

फरीदाबाद। वाईएमसीए युनिवर्सिटी और एश्लान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कालेज के बीच चल रहे एफिलेशन विवाद के चलते 480 छात्रों का साल बर्बाद होने के कागार पर है। जिसकी वजह से शैक्षणिक सत्र 2019-20 में दाखिल हुए छात्रों व उनके पैरेंट्स में वाईएमसीए युनिवर्सिटी के खिलाफ भारी आक्रोश है।
पैरेंट्स ने चेतावनी दी है कि 5 नवंबर तक वाईएमसीए युनिवर्सिटी ने एफिलेशन वापस ले कर शैक्षणिक सत्र 2019-20 में दाखिल हुए छात्रों का पंजीकरण करने की ठोस पहल नही की तो पैरेंट्स युनिवर्सिटी के खिलाफ कोई भी निर्णय लेने पर मजबूर होंगे। यह निर्णय रविवार को टाऊन पार्क में आयोजित पैरेंट्स की मीटिंग में लिया गया। मीटिंग में हरियाणा अभिभावक एकता मंच के अध्यक्ष एडवोकेट ओ पी शर्मा, महासचिव कैलाश शर्मा, संरक्षक सुभाष लांबा, जिला महासचिव डाक्टर मनोज शर्मा व प्रधान शिव कुमार जौशी एडवोकेट भी मौजूद थे। मीटिंग में माननीय मुख्यमंत्री,उप मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव,हायर एजुकेशन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव से मामले में तुरंत हस्तक्षेप करने और 2019-20 में दाखिल हुए छात्रों का पंजीकरण कराने की मांग की है। मीटिंग में युनिवर्सिटी द्वारा कालेज में शैक्षणिक सत्र 2017-18 व 2018-19 में दाखिल हुए छात्रों को अन्य कालेजों में एडजस्ट करने की भी निंदा की और एफिलेशन बहाल करवाने की मांग की।
अभिभावक एकता मंच के महासचिव कैलाश शर्मा व संरक्षक सुभाष लांबा ने पैरेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि वाईएमसीए युनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार द्वारा 17 अक्टूबर को एफिलेशन वापस लेने का पत्र जारी किया गया है। जिसके बाद छात्रों में हड़कंप मच गया है। रजिस्ट्रार द्वारा जारी पत्र में लिखा गया है कि एश्लान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कालेज यूनिवर्सिटी द्वारा की जाने वाली जरूरी निरक्षण नही करवाने के कारण एफिलेशन वापस ली गई है। जिसको लेकर हरियाणा अभिभावक एकता मंच का शिष्टमंडल युनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार और कालेज के चेयरमैन से मिला। एश्लान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कालेज ने युनिवर्सिटी के शैक्षणिक सत्र शुरू होने के तीन महीने बाद लिए गए निर्णय के खिलाफ माननीय पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में अपील दायर की । जिसपर माननीय हाईकोर्ट ने वाईएमसीए युनिवर्सिटी के एफिलेशन वापस लेने और शैक्षणिक सत्र 2017-18 व 2018-19 के छात्रों को युनिवर्सिटी से एफिलिएटेड अन्य कालेजों में एडजस्ट करने के आदेशों के क्रियान्वयन पर रोक लगा दी और अब केस की अगली सुनवाई 11 नवम्बर को होनी है। संरक्षक सुभाष लांबा ने कहा कि युनिवर्सिटी को अगर कालेज से कोई दिक्कत थी तो शैक्षणिक सत्र 2019-20 शुरू होने से पहले यानी 15 जून से पहले एफिलेशन वापस लेने चाहिए थी। ताकि कालेज नए एडमिशन न कर सके।

खास खबर

बतौर अध्यात्मिक वक्ता सम्मानित हुए पत्रकार शकुन रघुवंशी

Published

on

फरीदाबाद। सेक्टर 12 स्थित एचएसवीपी कन्वेंशन सेंटर में आयोजित गीता जयंती महोत्सव के समापन अवसर पर श्री सिद्धदाता आश्रम को दो-दो सम्मान प्राप्त हुए। यह सम्मान केंद्रीय राज्यमंत्री श्री कृष्णपाल गुर्जर ने प्रदान किए।

इनमें एक सम्मान पत्रकार शकुन रघुवंशी को बतौर अध्यात्मिक वक्ता प्राप्त हुआ| शकुन रघुवंशी श्री सिद्धदाता आश्रम के गत 18 वर्षों से मानद संपादक भी हैं|वह बतौर पत्रकार गत 22 वर्षों से प्रिंट मीडिया में सक्रिय हैं और वर्तमान में आज समाज अखबार में फरीदाबाद ब्यूरो प्रभारी के रूप में कार्यरत हैं। इससे पहले वह दैनिक जागरण, नई दुनिया, नवभारत टाइम्स, पब्लिक एशिया, सान्ध्य महालक्ष्मी, इन दिनों आदि समाचार पत्रों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

आज गीता जयंती महोत्सव के समापन अवसर पर श्री सिद्धदाता आश्रम के स्टॉल पर पहुंचे केंद्रीय राज्यमंत्री श्री कृष्णपाल गुर्जर का मंत्रोच्चारण के साथ स्वागत किया गया। आश्रम में पढऩे वाले वेदपाठी छात्रों के सस्वर उच्चारण से मंत्रीजी काफी प्रसन्न दिखे। कार्यक्रम समापन अवसर पर केंद्रीय राज्यमंत्री ने श्री सिद्धदाता आश्रम की भागीदारी को सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने आश्रम को विभिन्न गतिविधियों में सहभागिता और सेमिनार में वक्ताओं की श्रेणी में दो अवार्ड दिए। उनसे यह अवार्ड आश्रम के मानद संपादक शकुन रघुवंशी ने प्राप्त किए। कार्यक्रम समापन कार्यक्रम में भी आश्रम के वेदपाठी छात्रों ने सस्वर 18 श्लोकों में गीता की मुख्य शिक्षाओं को प्रस्तुत कर सभी को मोह लिया।

Continue Reading

खास खबर

मुस्लिम द्वारा हिन्दू आचरण को कुफ्र मानता है इस्लाम !

Published

on

Demand for immediate cancellation of appointment of Dr. Feroz Khan

फरीदाबाद। जिस प्रकार अलीगढ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय में ‘सुन्नी धर्मशास्त्र’ विभाग में शिया व्यक्ती की नियुक्ति नहीं हो सकती और ‘शिया धर्मशास्त्र’ विभाग में सुन्नी व्यक्ति नियुक्त नहीं हो सकती । तो हिन्दू विश्‍वविद्यालय में हिंदु तत्त्वज्ञान सिखाने के लिए मुसलमान प्राध्यापक की नियुक्ती कैसे की जा सकती है ? ‘काशी हिन्दू विश्‍वविद्यालय’ यह हिंदुआेंको वैदिक शिक्षा देनेवाला विद्यापीठ है । इसलिए इस विश्‍वविद्यालय में संस्कृत विद्या और धार्मिक विज्ञान विभाग में की गई डॉफिरोज खान की नियुक्ति तत्काल निरस्त की जाए तथा डॉखान की इस विभाग में नियमबाह्य नियुक्ति करनेवाले दोषीआें पर कारवाई होऐसी मांग हेतु हिन्दू जनजागृति समिति ने की है । समिती के सुरेश मुंजाल  ने यह मांग की है। काशी हिन्दू विश्‍वविद्यालय के धर्मशास्त्र विभाग के भवन पर एक शिलालेख आरंभ से है । उस पर लिखा है किकर्मकांड केवल हिन्दू शिक्षक सिखाएंगे । एक मुसलमान की नियुक्ती से पहले विश्‍वविद्यालय के इस नियमावली को प्रशासन ने ध्यान क्यो नही दिया खान की नियुक्ति जिस पद की गयी है वह संस्कृत शिक्षक का नहींअपितु हिन्दू धर्मशास्त्र (थिऑलॉजीसिखानेवाले आचार्य का है । इसमें धर्मशास्त्र के सिद्धांत और कर्मकांड का गहन ज्ञान तथा सर्व कर्मकांड स्वयं आचरण में लाना भी आवश्यक है । इस्लाम के अनुसार हिंदु कर्मकांड का आचरण करना ‘कुफ्र’ (निषेधार्हमाना गया हैअर्थात् डॉफिरोज खान वैदिक कर्मकांड का आचरण नहीं कर सकते । साथ ही अवैदिक व्यक्ति यज्ञ नहीं कर सकता । यज्ञ और संबंधित कर्मकांड करने के लिए वैदिक होना आवश्यक होता हैपरंतु डॉफिरोज खान मुसलमान हैं । उनके धर्मानुसार यज्ञ ‘हराम’ है । इसलिए हिन्दू जनजागृती समिती मांग करती है कीइस विश्‍वविद्यालय के सभी नियमो का पालन होने हेतु हिन्दू धर्मशास्त्र के अनुसार आचरण करनेवाले कुलगुरु की नियुक्ति की जाए । इसी के साथही हाल ही मे विश्‍वविद्यालय मे कुछ राष्ट्र एवं धर्म की हानी करनेवाली अन्य भी घटनाए हुई हैउस विषय को भी गंभीरता से लेना आवश्यक है । इसमे एक वीर विनायक दामोदर सावरकरजी की प्रतिमा को तोडकर उसे विद्रूप करनेवाले विद्यार्थियों पर तत्काल कठोर कारवाई की जाएऔर दुसरा बीए के नए सत्र से रामायणमहाभारत और वैदिक पाठ्यक्रम हटाने के प्रकरण में दोषींओ को तत्काल निलंबित कर पाठ्यक्रम को पूर्ववत किया जाएऐसी हम मांग करते है ।

Continue Reading

खास खबर

शिक्षाविद सतीश फोगाट लंदन की संसद में सम्मानित

Published

on

यू .के., इंग्लैंड स्थित लंदन की संसद (हाउस ऑफ़ कॉमन्स) में हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद जिला स्थित फौगाट पब्लिक सी. सै. स्कूल के निदेशक सतीश फौगाट को प्रमाण पत्र एव ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार शिक्षा के क्षेत्र में सराहनीय योगदान करने वाले किरदारों को दिया गया। पुरस्कार/ अवॉर्ड भारत देश व अन्य देशों से आए शिक्षाविदों को दिया गया। इस मौके पर हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स के लॉर्ड डूब्स, बेरोनैस थॉमटन आध्यात्मिक गुरु व इस्कॉन संस्था के ट्रस्टी गुरु गौर गोपाल दास, सी.बी.एस.ई. के परीक्षा नियंत्रक डॉ. संयम भारद्वाज, क्षेत्रीय अधिकारी मनीष अग्रवाल, निसा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. कुलभूषण शर्मा, इंटेलीजेन्ट माइंडस ट्रस्ट के ट्रस्टी राजेश बजाज, ओमान से सिद्दीकी हसन, सूरत से चुन्नीभाई गजेरा, रबिन्द्र, कुवैत से डॉ. अनीस अहमद, पुणे से जितेंदर सिंह, जालंधर से फादर अंटोनी, लखनऊ से डॉ भारती गाँधी आदि उपस्थित थे। श्री सतीश फौगाट जी को इस अवसर पर बोलने का मौका मिला तो उन्होंने भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता की झलक जो अपने वक्तव्य से छोड़ी, सभी उसके कायल हो गए । उन्होंने अपना सम्बोधन भगवान श्री कृष्ण को याद करते हुए संस्कृत वाणी में “कर्मण्ये वा धिकारस्ते मा फलेषु कदाचन ” सूक्ति से किया और कर्मवाद पर आधारित भाषण दिया। उपस्थितजनो ने इंग्लैंड धरती पर भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति की झलक दिखाने वाले श्री फौगाट जी को सराहा। अवॉर्ड समारोह से एक दिन पूर्व लंदन स्थित सेंट स्टीफन स्कूल की शैक्षिक यात्रा की गई। पढ़ाई खासतौर से क्रियाकलाप आधारित थी और टेबलेट से पढ़ाई कराई जा रही थी। पढ़ाई का समय सप्ताह के पांच दिन और स्कूल में ही सभी बच्चो के लिए लंच की व्यवस्था थी। प्रत्येक कक्षा में एक मुख्य अध्यापिका व एक सहायक अध्यापिका समेत 2 टीचर थे। ज्ञात रहे कि लंदन में सभी नागरिकों के बच्चों की पढ़ाई व स्वास्थ्य सम्बन्धी खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाता है ।

Continue Reading
सिटी न्यूज़2 days ago

इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को सीखनी चाहिए नई प्रौद्योगिकीः कुलसचिव डाॅ. गर्ग

सिटी न्यूज़2 days ago

आजादी रुपी धरोहर की रक्षा का लें संकल्प : आर.के. चिलाना

सिटी न्यूज़2 days ago

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस

सिटी न्यूज़3 days ago

टेलेंट सर्च एग्जाम से होगी होनहारों की पहचान

सिटी न्यूज़3 days ago

तम्बाकू को कहे ना, दूसरों को भी तम्बाकू छोड़ने को करें प्रेरितः कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

सिटी न्यूज़3 days ago

फुल ड्रेस फाइनल रिहर्सल का उपायुक्त ने किया निरिक्षण

सिटी न्यूज़3 days ago

अब लिपिकवर्गीय कर्मचारियों के भी तबादले होंगे ऑनलाइन

सिटी न्यूज़4 days ago

पर्यावरण को बचाने के लिए सबको काम करना होगा- मेजर शिवा किरण

DC yashpal
सिटी न्यूज़4 days ago

अनुशासन की सीख नेताजी सुभाष चंद्र बोस से लें छात्र: उपायुक्त यशपाल

sushma swaraj
सिटी न्यूज़4 days ago

इस बस स्टेण्ड का नाम भूतपूर्व मंत्री सुषमा स्वराज के नाम पर होगा

सिटी न्यूज़1 week ago

फरीदाबाद के तीन पत्रकारों पर दर्ज मुकदमे को अदालत ने किया खारिज, पत्रकारों ने किया फैसले का स्वागत

सिटी न्यूज़1 week ago

सिद्धदाता आश्रम ने समाज के जरूरतमंद व्यक्तियों को दिए कंबल

सिटी न्यूज़1 week ago

आरएसएस के विरुद्ध मिथ्या प्रचार के विरुद्ध उपायुक्त को ज्ञापन

सिटी न्यूज़7 days ago

नामदान प्राप्त व्यक्ति को परमात्मा की प्राप्ति सुलभ – स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य

सिटी न्यूज़3 days ago

तम्बाकू को कहे ना, दूसरों को भी तम्बाकू छोड़ने को करें प्रेरितः कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

सिटी न्यूज़2 days ago

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस

सिटी न्यूज़2 days ago

आजादी रुपी धरोहर की रक्षा का लें संकल्प : आर.के. चिलाना

sushma swaraj
सिटी न्यूज़4 days ago

इस बस स्टेण्ड का नाम भूतपूर्व मंत्री सुषमा स्वराज के नाम पर होगा

सिटी न्यूज़3 days ago

फुल ड्रेस फाइनल रिहर्सल का उपायुक्त ने किया निरिक्षण

सिटी न्यूज़7 days ago

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय 3डी प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी पर एडवांस लैब विकसित करेगा

लोकप्रिय