Faridabad। गांव हीरापुर में रहने वाले मनोज कुमार ने नगर निगम फरीदाबाद में तैनात अकाउंट ऑफीसर विशाल कौशिक व उसके साथी क्लर्क लोकेश गौड़ पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। उन्होंने इस बारे में एक शिकायत सीएम विंडो पर लगाई है।
शिकायतकर्ता का आरोप है कि शिकायतों के चलते विशाल कौशिक का तबादला तो ओल्ड फरीदाबाद जोन में कर दिया गया था, लेकिन वह आज भी नगर निगम मुख्यालय में अपने साथी कर्मचारियों की मदद से अकाउंट ऑफीसर का काम कर रहा है। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि निगम के कुछ अधिकारियों से मिलीभगत होने का कारण विशाल नगर निगम मुख्यालय में काम कर रहा है।
सीएम विंडो पर दी शिकायत में मनोज कुमार ने कहा कि विशाल कौशिक नगर निगम के नामी अफसरों में एक है जिसके पास करोड़ों अरबों रुपए की दिल्ली का फरीदाबाद में प्रॉपर्टी है और कई लग्जरी गाड़ी भी है। मनोज का आरोप है कि एक अकाउंट ऑफिसर होने के नाते कोई भी अधिकारी इतनी प्रॉपर्टी अर्ज नहीं कर सकता। शिकायतकर्ता का यह भी आरोप है कि नगर निगम का काम करने वाले ठेकेदारों को पेमेंट देने के नाम पर 10 फ़ीसदी का कमीशन विशाल मांगता है और उसके लिए लोकेश गॉड नामक क्लर्क पैसे लेकर उसके लिए काम करता है। शिकायतकर्ता का कहना है कि कई बार विशाल कौशिक ने लोकेश कोड के खिलाफ सीएम विंडो अन्य उच्च अधिकारियों को शिकायत की गई लेकिन मिलीभगत होने के कारण शिकायतों का निपटारा करके उन्हें बन्द करवा दिया। मनोज का आरोप है कि पिछले दिनों विजिलेंस कथा नगर निगम कमिश्नर को भी इनके खिलाफ लिखित शिकायत की गई थी। की जांच अभी नगर निगम अधिकारियों के पास विजिलेंस से पहुंची नहीं है।
शिकायतकर्ता ने हरियाणा के मुख्यमंत्री से अकाउंट ऑफीसर व उसके साथी क्लर्क लोकेश गौड़ के खिलाफ किसी अच्छे अफसर से जांच करवाने की मांग की है।