Connect with us

सिटी न्यूज़

आयुर्वेदिक तरीके से होली खेलें : डॉ. प्रताप चौहान

mm

Published

on

जीवा आयुर्वेद के डॉ. प्रताप चौहान ने फरीदाबाद में जीवाग्राम सेंटर फॉर वेलनेस में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में होली के विज्ञान की व्याख्या की और आयुर्वेदिक तरीके से होली मनाने के महत्व को रेखांकित किया।
उन्होंने त्वचा पर सिंथेटिक रंगों के दुश्प्रभाव से निबटने के लिए कुछ सामान्य आयुर्वेदिक उपाय बताए।

नई दिल्ली एनसीआर, 25 फरवरी, 2020 : जीवा आयुर्वेद के निदेषक डॉ. प्रताप चौहान ने आज कहा कि होली खेलने के छिपे हुए स्वास्थ्य संबंधी लाभ हैं। होली खेलने के दौरान त्वचा पर प्यार के साथ हर्बल रंग लगाने से त्वचा खिल उठती है और नई त्वचा कोषिकाएं उसी तरह से बनने लगती हैं जैसे बसंत के आगमन के साथ पेड़-पौधों पर नए पत्ते और फूल आने लगते हैं।

होली और आयुर्वेद के बीच के संबंधों के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए, डॉ. चौहान ने कहा कि आयुर्वेद के अनुसार, बीमारियां पृथ्वी के पांच तत्वों – पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और षरीर में मौजूद पानी में गड़बड़ी का परिणाम हैं। इस असंतुलन के कारण वात, पित्त, और कफ के तीन दोष पैदा होते हैं। ये तीन असंतुलन पैदा करने वाले मुख्य कारक मौसम में होने वाले बदलाव हैं। इसलिए आयुर्वेद ने इन स्वास्थ्य समस्याओं से बचाव के लिए ऋतु के हिसाब से कुछ खास उपाय (ऋतुचार्य) सुझाए हैं।

उन्होंने कहा कि होली वसंत ऋतु (वसंत) चक्र का एक हिस्सा है। यह गर्म दिनों की षुरूआत है। बसंत में बढ़ती आर्द्रता के साथ तापमान में अचानक वृद्धि के कारण षरीर का कफ पिघलता है और कफ से संबंधित अनेक बीमारियों को जन्म देता है। होली के पर्व की अवधारणा मूल रूप से षरीर को द्रवीभूत कफ से मुक्ति दिलाने तथा तीन दोशों को उनकी प्राकृतिक अवस्था में दोबारा लाने के लिए बनाई गई।

होली की खासियत रंगों से होली खेलना है। परम्परागत तौर पर हरा रंग के लिए नीम (अजादिराष्टा इंडिका) और मेंहदी (लॉसनिया इनरमिस), लाल रंग कुमकुम और रक्तचंदन (पटेरोकार्पस सांतालिनस), पीला रंग के लिए हल्दी (कुरकुमा लोंगा), नीला रंग के लिए जकरांदा के फूल तथा अन्य रंगों के लिए बिल्वा (ऐगल मार्मेलोस), अमलतास (कैसिया फिस्टुला), गेदा (टागेटस इरेक्टा) और पीली गुलदाउदी से होली के रंग तैयार किए जाते हैं जिनमें कफ घटाने के गुण होते हैं।

डॉ. चौहान ने कहा कि हर्बल एवं रंग मिलाकर पानी की बौछार करने से इनमें मौजूद औषधीय घटक त्वचा में प्रविश्ठ करते हैं और त्वचा को डिटॉक्स करने में मदद करते है। डॉ. चौहान ने लोगों से अपील की कि होली के स्वास्थ्य लाभों का लाभ उठाने के लिए केवल आर्गेनिक हर्बल रंगों का ही उपयोग करें।

डॉ. चौहान ने कहा कि आज बाजार में मिलने वाले ज्यादातर रंग रसायनों से बने होते हैं और वे असुरक्षित होते हैं। ये रंग त्वचा पर रैषेस पैदा कर सकते हैं। यह जरूरी है कि होली खेलने से एक दिन पहले पूरे षरीर पर सरसों का तेल लगा लें। इससे आपकी त्वचा सुरक्षित रहेगी और होली खेलने के बाद आप असानी से रंगों को धोकर हटा सकते हैं। आप काफी मात्रा में नारियल तेल भी लगा सकते हैं। ये सुरक्षा एजेंट के रूप में कार्य करते हैं और रंगों को जड़ों में गहराई तक घुसने से रोकते हैं।

यदि त्वचा पर चकत्ते हैं, तो प्रभावित क्षेत्रों पर मुल्तानी मिट्टी लगा सकते हैं। एक और अच्छा घरेलू उपाय यह है कि गुलाब जल में बेसन, खाने के तेल और दूध की मलाई मिलाकर पेस्ट बना लें। चकत्ते का इलाज करने के लिए उस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाएं।

डॉ. चौहान ने कहा कि होली के दिन लोग काफी मात्रा में स्नैक्स और मिठाइयां खाते है। इससे कब्ज एवं पेट की समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए आप अपनी त्वचा का ध्यान रखने के साथ अपने पेट की सेहत का भी ध्यान रखें। सब्जियों एवं फलों से भरपूर खाना बदलते मौसम के लिहाज से बेहतर है। इसके अलावा अपने आप को हाइड्रेटेड भी रखना जरूरी है। इसके लिए खूब पानी पीएं। लोगों को जितना अहसास होता है उससे कहीं अधिक तेजी से बसंत की धूप और हवा में मौजूद सूखापन नमी को सोख लेता है। अपने पास छोटा सा सीपर रखें और समय≤ पर एक-एक, दो-दो घूंट पानी पीते रहें।

जीवा आयुर्वेद के बारे में :

जीवा आयुर्वेद का उद्देष्य क्रोनिक और जीवन शैली की बीमारियों के लिए उच्च गुणवत्ता वाले और व्यक्तिगत आयुर्वेदिक उपचार उपलब्ध कराना है। जीवा आयुर्वेद पूरे भारत में अपने तीन चिकित्सा और अनुसंधान केंद्रों और 80 से अधिक क्लीनिकों के माध्यम से प्रतिदिन 8,000 से अधिक रोगियों का इलाज करता है। हरियाणा के फरीदाबाद स्थित जीवा चिकित्सा एवं अनुसंधान केंद्र दुनिया का अपनी तरह का पहला स्वास्थ्य केंद्र है, जिसमें 500 से अधिक आयुर्वेदिक डॉक्टर और सहायक प्रोफेशनल्स भारत के 1,800 शहरों और कस्बों में मरीजों को टेलीफोन पर परामर्श प्रदान करते हैं। कंपनी का अपना एचएसीसीपी और जीएमपी प्रमाणित विनिर्माण इकाई भी है जो दवाओं और उत्पादों में 600 से अधिक क्लासिकल और प्रोपरायटरी फार्मुलेषन तैयार करता है। जीवाग्राम सेंटर फ़ॉर वेलबेइंग फरीदाबाद में एक अद्वितीय आवासीय सुविधा है, जहाँ मेहमान हालिस्टिक हीलिंग ट्रीटमेंट और पंचकर्म, रिफ्लेक्सोलॉजी, संगीत और रंग चिकित्सा जैसे उपचारों से खुद का कायाकल्प कर सकते हैं।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सिटी न्यूज़

ट्रांसफार्मेशन महारथियों को गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड

mm

Published

on

शिक्षा क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों के हरियाणा एडुकेटर्स क्लब ने दिए अवॉर्ड

सीबीएसई के डिप्टी सेके्रटरी विजय यादव बोले, अच्छी पहल का सभी को करना चाहिए स्वागत

फरीदाबाद। हरियाणा एडुकेटर्स क्लब ने देर रात होटल रेडिसन ब्ल्यू में गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड का आयोजन किया। जिसमें ट्रांसफार्मेशन करने वाले शिक्षा महारथियों को यह अवॉर्ड प्रदान किए गए।

मुख्य अतिथि सीबीएसई के डिप्टी सेके्रटरी एफिलिएशन श्री विजय यादव ने इस पहल का स्वागत किया। उन्होंने स्कूल एफिलिएशन : रीइंजीनियर्ड ऑटोमेशन सिस्टम विषय पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि आज के समय में सीबीएसई स्टेट ऑफ द आर्ट तकनीक का प्रयोग कर रही है जिससे शिक्षा संस्थान चलाने वालों को पहले से अधिक सुविधा महसूस हो रही है। उन्होंने बताया कि आज सीबीएसई में स्कूलों की संबंद्धता, पुनर्संबद्धता, अपगे्रडेशन आदि सभी कार्यों को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया गया है। जिसके कारण आज एक भी एप्लीकेशन उनके विभाग में पेंडिंग नहीं है। श्री यादव ने बताया कि हम पूरी कोशिश करेंगे कि अकारण किसी स्कूल प्रबंधन को परेशानी न हो।

इस अवसर पर फरीदाबाद के एसडीएम श्री परमजीत सिंह चहल ने शिक्षा क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों द्वारा गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड के आयोजन करने को बड़ी विशिष्ट पहल बताया। उन्होंने शिक्षकों की जिम्मेदारी की प्रशंसा की। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रितु चौधरी ने शिक्षा विभाग और शिक्षा संस्थाओं को एक दूसरे का पूरक बताते हुए भविष्य में पूर्व की भांति अधिक सहयोग के काम करने की बात कही। कार्यक्रम में पलवल के शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, महिला थाना प्रभारी श्रीमती नेहा राठी भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

क्लब के अध्यक्ष रमेश डागर ने कहा कि शिक्षक अपना पूरा जीवन देश का भविष्य बनाने में बिता देता है, लेकिन अपने मनोरंजन की ओर वह सोच भी नहीं पाता है। उसे लगता है कि लोग क्या कहेंगे। ऐसे ही विचार के साथ हरियाणा एडुकेटर्स क्लब की नींव रखी गई। क्लब अपने सदस्यों के मनोरंजन के लिए न केवल कैंपों का आयोजन करता है बल्कि उनके योगदान के लिए उनकी सराहना भी करता है। आज का गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड कोरोना काल में उनके द्वारा किए गए ट्रांसफार्मेशन फेज को बखूबी निभाने के लिए दिए जा रहे हैं। कार्यक्रम में फरीदाबाद सहित गुरुग्राम, पलवल, साहिबाबाद आदि एनसीआर शहरों से भी सदस्यों ने भागीदारी की।

इससे पूर्व कार्यक्रम में पहुंचे सभी अतिथियों एवं सदस्यों का क्लब की ओर से भव्य स्वागत किया गया। इस आयोजन में हरियाणा एडुकेटर्स क्लब के कोर्डिनेटर अनिल रावल, महासचिव गौरव पाराशर, कोषाध्यक्ष दीपक यादव, सचिव राखी वर्मा आदि की प्रमुख भूमिका रही। वहीं कार्यक्रम का संचालन सीवी सिंह ने किया।

इस अवसर पर एच एस मलिक, एसएस चौधरी, दीप्ति जगोता, नंदराम पाहिल, अनिल रावल, राजुल प्रताप सिंह, उधम सिंह अधाना, नवीन चौधरी, नारायण डागर, वेदराम धनकर, राजदीप सिंह, भारत भूषण शर्मा, वज़ीर सिंह डागर, सत्यवीर डागर, नरेंद्र परमार, आस्था गुप्ता, चन्द्रसेन शर्मा आदि प्रमुख व्यक्ति मौजूद रहे| 

Continue Reading

सिटी न्यूज़

अफोर्डेबल एजुकेशन के लिए डॉ सतीश फौगाट सम्मानित

mm

Published

on

दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में मिला राष्ट्रीय स्तर का अवॉर्ड

फरीदाबाद। जाने माने शिक्षाविद डॉ सतीश फौगाट को लीडर इन प्रोवाइडिंग अफॉर्डेबल एजुकेशन अवॉर्ड 2021 प्राप्त हुआ है। उन्हें यह अवॉर्ड उड़ान संस्था की ओर से नई दिल्ली के द पार्क होटल में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रदान किया गया।

उड़ान संस्था की ओर से स्कूल लीडरशिप अवॉर्ड एवं एजुकेशन कानक्लेव का आयोजन किया गया। संस्था ने देश भर से करीब दो दर्जन से अधिक शिक्षाविदों को विभिन्न उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया। इस अवसर पर फरीदाबाद स्थित फौगाट पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल के निर्देशक डॉ. सतीश फौगाट को सम्मानित किया गया। उनके साथ स्कूल की प्रधानाचार्या निकेता सिंह भी मौजूद रहीं। कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री श्री रामदास अठावले, एनसीईआरटी निदेशक श्रीधर श्रीवास्तव, एनसीईआरटी सचिव मेजर हर्षकुमार, कार्यक्रम संयोजक संजय टूटेजा आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

कार्यक्रम में बताया गया कि डॉ सतीश फौगाट के नेतृत्व में फरीदाबाद का फौगाट पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल बहुत वाजिब दाम पर क्षेत्र के विद्यार्थियों को शिक्षा देने का काम कर रहा है। उन्हें अनेक मंचों पर अनेक सम्मान प्राप्त हुए हैं। श्री फौगाट ने उड़ान संस्था से मिले सम्मान पर खुशी जताई। उन्होंने बताया कि उनके क्षेत्र में निम्न मध्यमवर्गीय परिवारों की संख्या अधिक है। वह अपने बच्चों को उच्च और गुणवत्तापरक शिक्षा देना चाहते हैं लेकिन महंगी शिक्षा अफोर्ड नहीं कर सकते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने अपने स्कूल में अफोर्डेबल शिक्षा को नीति बनाया, जिसका आज हजारों परिवारों को लाभ मिल रहा है।

डॉ फौगाट ने बताया कि वह करीब 300 बेटियों को निशुल्क शिक्षा देने का काम कर रहे हैं। वहीं उनके बच्चे विभिन्न क्षेत्रों में नाम कमा रहे हैं। इसके साथ ही स्कूल और उनकी टीम भी निरंतर लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास कर रहे हैं।

फोटो- उड़ान संस्था के कार्यक्रम में डॉ सतीश फौगाट एवं निकेता फौगाट को सम्मानित करते एनसीईआरटी के निदेशक श्रीधर श्रीवास्तव और एनसीईआरटी के सचिव मेजर हर्षकुमार।

Continue Reading

सिटी न्यूज़

पीएसए हरियाणा ने दी डीईओ बनने पर बधाई 

mm

Published

on

फरीदाबाद। प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन, हरियाणा का प्रतिनिधिमंडल प्रेजिडेंट रमेश डागर, सेक्रेटरी गौरव पराशर एवं प्रवक्ता दीपक यादव के नेतृत्व में नवनियुक्त जिला शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी का बुके भेंट कर स्वागत किया और शुभकामनाएं दीं। रितु चौधरी पहले जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी के रूप में कार्यरत थीं। विभाग में बेहतरीन सेवाएं देने के कारण उन्हें पदोन्नत कर जिला शिक्षा अधिकारी बनाया गया है। इस अवसर पर एसोसिएशन के सभी सदस्यों ने जिला शिक्षा अधिकारी को शुभकामनाएं दीं। प्रेजिडेंट रमेश डागर, सेक्रेटरी गौरव पराशर एवं प्रवक्ता दीपक यादव ने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी का आज स्वागत किया गया। इस अवसर पर उनके साथ कई अन्य विषयों पर बातचीत भी हुई। एसोसिएशन को पूर्ण विश्वास है कि जिस प्रकार रितु चौधरी जी ने जिला मौलिक अधिकारी के रूप में अपनी बेहतरीन सेवाएं विभाग को दीं उसी प्रकार जिला शिक्षा अधिकारी के रूप में उनका यह कार्यकाल भी उल्लेखनीय और सफल होगा। इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल में पदाधिकारियों के अतिरिक्त शिक्षाविद् शिव कुमार, महेश मित्तल, कृष्ण पांचाल, अरूण बेनीवाल, गुलाब सिंह, आरके शर्मा व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Continue Reading
खास खबर1 week ago

करोना से हार गए सुरों के बंधु विश्वबंधु

WhiteMirchi TV3 weeks ago

कैसे लिंगायाज विद्यापीठ छात्रों को बेचने लायक बना रही है?

WhiteMirchi TV3 weeks ago

काम ऊर्जा के बारे में लेखक हुकम सिंह दहिया के शब्द

खास खबर4 weeks ago

लिंग्याज ने बनाया क्रेडिट कार्ड साइज का कंप्यूटर

खास खबर1 month ago

सीटीओ एंजियोप्लास्टी स्टेंटिंग से बाईपास सर्जरी से बचाव संभव : डा. बंसल

सिटी न्यूज़2 months ago

ट्रांसफार्मेशन महारथियों को गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड

सिटी न्यूज़2 months ago

अफोर्डेबल एजुकेशन के लिए डॉ सतीश फौगाट सम्मानित

खास खबर2 months ago

सेक्टर 56, 56ए में नागरिकों ने बनाया पुलिस पोस्ट

सिटी न्यूज़2 months ago

पीएसए हरियाणा ने दी डीईओ बनने पर बधाई 

सिटी न्यूज़2 months ago

तिगांव में विकास की गति और तेज होगी- ओमप्रकाश धनखड़

WhiteMirchi TV3 weeks ago

कैसे लिंगायाज विद्यापीठ छात्रों को बेचने लायक बना रही है?

WhiteMirchi TV3 weeks ago

काम ऊर्जा के बारे में लेखक हुकम सिंह दहिया के शब्द

WhiteMirchi TV1 year ago

अपनी छाती न पीटें, मजाक न उड़ाएं…. WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

लेजर वैली पार्क बना किन्नरों की उगाही का अड्डा WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

भांकरी फरीदाबाद में विद्यार्थी तेजस्वी तालीम शिविर में भाग लेंगे फौगाट स्कूल के बच्चे| WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

महर्षि पंकज त्रिपाठी ने दी कोरोना को लेकर सलाह WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

डीसी मॉडल स्कूल के छात्र हरजीत चंदीला ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन | WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

हरियाणा के बच्चों को मिलेगा दुनिया घूमने का मुफ्त मौका WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

किसी को देखकर अनुमान मत लगाओ! हर लुंगी पहनने वाला गंवार या अनपढ़ नहीं होता!! WhiteMirchi

लोकप्रिय