Connect with us

बक Lol

जीएसटी ने बढ़ाई बेरोजगारी की रफ्तार 

Published

on

अशोक बुवानीवाला
पहले नोटबंदी और अब नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली गुड्स एवं सर्विस टैक्स (जीएसटी) ने देश में बेरोजगारी की रफ्तार को और बढ़ा दिया है। संगठित और असंगठित क्षेत्रों में पिछले एक साल के दौरान बेरोजगार होने वालों की संख्या तेजी से बढ़ी है। कारण कुछ भी रहा हो लेकिन यह सही है कि जिन लोगो के पास रोजगार था। वे भी बेरोजगार हो गये और उसके पीछे जहां पिछले वर्ष नोटबंदी बड़ी वजह बनी। वहीं अब नई कर प्रणाली रोजगार के अवसर छीनने का काम कर रही है। व्यापारियों की प्रमुख संस्था राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन ने इस पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि यदि मौजूदा अर्थव्यवस्था में रोजगार के अवसर पैदा करने हैं तो देश को एक कारोबारी राष्ट्र बनाना ही होगा।
राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन सदैव इस बात की वकालत करता रहा है कि देश में रोजगार के अवसर पैदा करने है तो देश को एक कारोबारी राष्ट्र बनाना होगा। हाल ही मे दो रिपोर्ट प्रकाशित हुई है जिनमें एक में बताया गया है कि देश में रोजगार घट रहा है। सन 2011-13 में छात्रों व नौकरीयों का अनुपात 9:1 का था जो 2014-16 के बीच बढक़र 27:1 हो गया। यानि कि 27 स्नातक में सिर्फ 1 को नौकरी मिलेगी। वहीं दूसरी रिपोर्ट में कहा गया है कि 2010 में जहां 12.60 लाख रोजगार पैदा हुए। वहीं 2014 में सिर्फ 4.93 लाख और 2015 में यह और घटकर 1.35 लाख ही रह गया। उन्होंने कहा कि आंकड़ो पर नजर डाले तो स्थिति काफी भयानक है। रोजगार के अवसर कम हो रहें है और रोजगार की तलाश में युवाओ की संख्या लगातार बढ़ रही है। यही नहीं मौजूदा समय स्थितियां कुछ ऐसी बनती जा रही है कि न सिर्फ असंगठित बल्कि संगठित क्षेत्रों में पहले से रोजगार प्राप्त कर रहे लोगों को भी झटके के साथ बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है।
पिछले वर्ष नोटबंदी के कारण देश में बड़ी तादाद में लोग बेरोजगार हुए और अब जीएसटी आने के बाद यही स्थिति बनने लगी है। कारोबारियों को सुरक्षा, सम्मान और सत्ता में भागीदारी मिलेगी तो निश्चित रूप से कारोबार बढ़ेगा और रोजगार के अवसर पैदा होंगे। सरकारी आंकड़ो से ये खुलासा हुआ है कि देश में भाजपा की सरकार बनने के बाद से देश में बेरोजगारी बढ़ी है। भाजपा सरकार के 2013-14 के समय में देश में बेरोजगारी दर 4.9 फीसदी थी, जो अगले एक साल में 2015-16 में बढक़र 5.0 फीसदी हो गई। भाजपा ने लोकसभा चुनाव के अपने घोषणा-पत्र में कहा था, उनके सत्ता में आने के बाद व्यापक स्तर पर आर्थिक सुधार करेगी और बड़े पैमाने पर रोजगार पैदा करने और नव उद्यमियों पर अपना ध्यान केंद्रित करेगी। लेकिन हुआ इसका उलट। पिछले तीन वर्षों में बेरोजगारी की रफ्तार और तेज हुई है। श्रम मंत्रालय के आंकड़ों के आधार पर तैयार आर्थिक सर्वेक्षण (2016-17) में कहा गया है कि रोजगार वृद्धि दर घटी है। श्रम मंत्रालय द्वारा पांचवे वार्षिक रोजगार-बेरोजगार सर्वेक्षण (2015-16) की रपट में कहा गया है कि सामान्य प्रिंसिपल स्टेटस के आधार पर बेरोजगारी दर पांच फीसदी रही। सामान्य प्रिंसिपल स्टेटस के अनुसार, सर्वेक्षण से पूर्व के 365 दिनों में 183 या उससे अधिक दिन काम करने वाले लोगों को बेरोजगार नहीं माना जाता। इस सर्वेक्षण में औपचारिक एवं अनौपचारिक अर्थव्यवस्था दोनों को शामिल किया गया है।
इसके अलावा सार्वजनिक रोजगार कार्यक्रमों के तहत काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरों को भी शामिल किया गया। प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई 2014 से दिसंबर 2016 के बीच उत्पादन, कारोबार, निर्माण, शिक्षा, स्वास्थ्य, सूचना प्रौद्योगिकी, परिवहन एवं आतिथ्य सेवा तथा रेस्तरां सेक्टरों में 641,000 रोजगार का सृजन हुआ। इसमें भी जनवरी, 2016 से मार्च, 2016 के बीच सृजित रोजगार शामिल नहीं हैं, क्योंकि उनके आंकड़े नहीं मिल सके। इसकी तुलना में जुलाई, 2011 से दिसंबर, 2013 के बीच इन्हीं क्षेत्रों में 12.8 लाख रोजगार सृजित हुए थे। ये आंकड़े सरकार द्वारा गैर-कृषि इकाइयों से जुटाए गए हैं। शहरी और ग्रामीण इलाकों में रोजगार सृजित करने के उद्देश्य से शुरू की गई प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत लाभान्वितों की संख्या 2012-13 में 428,000 से 24.4 फीसदी घटकर 2015-16 में 323,362 रह गई।
राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष – राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन

बक Lol

मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने क्यों कहा, यह कांग्रेस की नहीं मोदी की सरकार है

Published

on

Continue Reading

बक Lol

पत्रकार को पालतू कहने पर मीडियाकर्मियों में तू-तू मैं-मैं

Published

on

फरीदाबाद। एनआईटी विधानसभा से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने नगर निगम द्वारा उनकी मां के घर पर तोडफ़ोड़ की काईवाई के विरोध में प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की थी।
लेकिन यहां अकसर नीरज शर्मा के साथ रहने वाले एक पत्रकार को अन्य मीडियाकर्मियों द्वारा इस मौके पर उपस्थित न रहने पर सवाल दागा। जिस पर विधायक ने इस बारे में जवाब देने में असमर्थता जताई। जिस पर एक अन्य मीडियाकर्मी ने उस पत्रकार को पालतू तक कह डाला। वहीं एक अन्य पत्रकार ने उसे चोर और डाकू कहकर संबोधित कर दिया और उसके चार लाख रुपये दिलवाने के लिए भी विधायक से कहा।
इस पर उस पत्रकार के प्रतिनिधि ने विरोध किया और कहा कि वह आज शहर में नहीं हैं और उनके प्रतिनिधि के तौर पर वह कवरेज कर रहे हैं। इस पर आरोप लगा रहे पत्रकार भडक़ गए और आपस में तू-तू मैं-मैं शुरू हो गई।
इस पत्रकार ने तो यहां तक कह दिया कि उस पालतू के सामने मेरा नाम ले देना। इतना ही काफी है। वह मेरा सामना नहीं कर सकता, मैं 25 साल से पत्रकारिता कर रहा हूं। जिस पर विधायक के पत्रकार का पक्ष ले रहे मीडियाकर्मी ने कहा कि जो कहना है, उससे ही कहना। किसी के पीछे, उसके बारे में बुरी बात करना ठीक नहीं है। कुछ समझदार मीडियाकर्मियों और पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर मुकेश शर्मा ने किसी तरह कह सुनकर सभी को शांत करवाया।

Continue Reading

बक Lol

नगर निगम ने फरीदाबाद शहर को बना दिया कूड़े का ढेर – जसवंत पवार

mm

Published

on

वैसे तो फरीदाबाद शहर को अब स्मार्ट सीटी का दर्जा प्राप्त हो चूका है, परन्तु शहर के सड़कों पर गंदगी के ढेर  फरीदाबाद प्रशासन और नगर को आइना दिखा रहे हैं

शहर के अलग अलग मुख्य चौराहों और सड़कों पर पढ़े कूड़े के ढेर को लेकर समाज सेवी जसवंत पवार ने फरीदाबाद प्रशासन और नगर निगम कमिश्नर से पूछा है कि एक तरफ भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी कहते हैं कि स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत मुहिम को पूरे देश में चला रहे हैं वही नगर निगम इस पर पानी फेरता दिख रहे हैं फरीदाबाद में आज सड़कों पर देखे तो गंदगी के ढेर लगे हुए हैं पूरे शहर को इन्होंने गंदगी का ढेर बना दिया है। जिसके चलते फरीदाबाद शहर अभी तक एक बार भी स्वछता सर्वेक्षण में अपनी कोई अहम् भूमिका अदा नहीं कर पा रहा,  अगर ऐसे ही चलता रहा तो हमारा फरीदाबाद शहर स्वच्छता सर्वे में फिर से फिसड्डी आएगा। साल 2021 में स्वछता सर्वेक्षण 1 मार्च से 28 मार्च तक किया जाना है जिसको लेकर लगता नहीं की जिला प्रसाशन व फरीदाबाद के नेता और मंत्री फरीदाबाद शहर की स्वछता को लेकर बिल्कुल भी चिंतित दिखाई नहीं पढ़ते है।

जसवन्त पंवार ने फरीदाबाद वासियों से अनुरोध और निवेदन किया है अगर हमें अपना शहर स्वच्छ और सुंदर बनाना है तो हम सबको मिलकर प्रयास करने होंगे जहां पर भी गंदगी के ढेर हैं आप वीडियो बनाएं सेल्फी ले फोटो खींचे और नेताओं और प्रशासन तक उसे पहुंचाएं, हमें जागरूक होना होगा तभी जाकर यह फरीदाबाद शहर हमारा स्वच्छ बन पाएगा। आप हमें इस नंबर पर वीडियो और फोटो भेज सकते हैं

Continue Reading
बक Lol2 weeks ago

मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने क्यों कहा, यह कांग्रेस की नहीं मोदी की सरकार है

खास खबर2 weeks ago

क्या पार्षद पर शराब पीने का आरोप लगाने वाले विधायक Neeraj Sharma भी शराब के नशे में थे?

WhiteMirchi TV2 weeks ago

दूसरे के घर में रहकर अपने घर की सफाई नामुमकिन है!

रूह-ब-रूह2 weeks ago

उम्मीदवार ऐसा चुनें, जिससे आपकी बहु बेटी सुरक्षित रहें

WhiteMirchi TV2 weeks ago

गुनाहों का देवता ही क्यों, गुनाहों का खुदा क्यों नहीं?

रूह-ब-रूह2 weeks ago

ताऊ देवीलाल की नीतियों से क्यों प्रभावित हैं डॉ सतीश फौगाट

WhiteMirchi TV2 weeks ago

डॉ आंबेडकर हैं आधुनिक मनु !

बक Lol3 weeks ago

पत्रकार को पालतू कहने पर मीडियाकर्मियों में तू-तू मैं-मैं

खास खबर3 weeks ago

अतिक्रमण नहीं किया, मां ने बारिश में डूबने से बचाया घर – विधायक

सिटी न्यूज़4 weeks ago

प्रशान्त नागर ने दहेज न लेकर समाज को दिखाई राह – राजेश नागर

खास खबर3 weeks ago

अतिक्रमण नहीं किया, मां ने बारिश में डूबने से बचाया घर – विधायक

सिटी न्यूज़4 weeks ago

आरडब्ल्यूए सेक्टर 56, 56ए की मांग पर मंत्रियों ने दी सौगात

बक Lol3 weeks ago

पत्रकार को पालतू कहने पर मीडियाकर्मियों में तू-तू मैं-मैं

खास खबर4 weeks ago

यूथ कांग्रेस का हाथ, नव धनाढ्यों के साथ

वाह ज़िन्दगी4 weeks ago

सिद्धदाता आश्रम में डेल्टा प्लस वायरस से मुक्ति के लिए यज्ञ

सिटी न्यूज़4 weeks ago

प्रशान्त नागर ने दहेज न लेकर समाज को दिखाई राह – राजेश नागर

खास खबर2 weeks ago

क्या पार्षद पर शराब पीने का आरोप लगाने वाले विधायक Neeraj Sharma भी शराब के नशे में थे?

shri sidhdata ashram
सिटी न्यूज़4 weeks ago

श्री सिद्धदाता आश्रम में पुजारियों सेवादारों को लगी वैक्सीन

रूह-ब-रूह2 weeks ago

ताऊ देवीलाल की नीतियों से क्यों प्रभावित हैं डॉ सतीश फौगाट

बक Lol2 weeks ago

मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने क्यों कहा, यह कांग्रेस की नहीं मोदी की सरकार है

खास खबर2 weeks ago

क्या पार्षद पर शराब पीने का आरोप लगाने वाले विधायक Neeraj Sharma भी शराब के नशे में थे?

WhiteMirchi TV2 weeks ago

दूसरे के घर में रहकर अपने घर की सफाई नामुमकिन है!

WhiteMirchi TV2 weeks ago

गुनाहों का देवता ही क्यों, गुनाहों का खुदा क्यों नहीं?

WhiteMirchi TV2 weeks ago

डॉ आंबेडकर हैं आधुनिक मनु !

WhiteMirchi TV2 months ago

जाति छोड़ना मुश्किल और धर्म छोड़ना आसान है क्या ?

WhiteMirchi TV2 months ago

ऐसे मिलेगा जाति से छुटकारा !!!!

WhiteMirchi TV3 months ago

कैसे लिंगायाज विद्यापीठ छात्रों को बेचने लायक बना रही है?

WhiteMirchi TV1 year ago

अपनी छाती न पीटें, मजाक न उड़ाएं…. WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

लेजर वैली पार्क बना किन्नरों की उगाही का अड्डा WhiteMirchi

WhiteMirchi TV1 year ago

भांकरी फरीदाबाद में विद्यार्थी तेजस्वी तालीम शिविर में भाग लेंगे फौगाट स्कूल के बच्चे| WhiteMirchi

लोकप्रिय