Connect with us

बक Lol

तो इसलिए सौतेले बच्चों की मां नहीं बन सकतीं करीना कपूर

Published

on

whitemirchi.com

सैफ अली खान की बेटी सारा अली खान को लेकर सौतेली मां करीना कपूर ने सारा और उनके भाई इब्राहिम को लेकर एक ऐसी बात कही है। जिसे सुनकर आप इमोशनल हो जाएंगे| हाल ही में एक इंटरव्यू में करीना ने सारा और इब्राहिम के साथ अपने रिश्ते को लेकर कहाकि मैं सारा और इ्ब्राहिम की सिर्फ दोस्त बन सकती हूँ मां नहीं।

आखिर आ गई प्रियंका-निक जोनस की शादी की तारीख

करीना कपूर के मुताबिक, ‘मैंने हमेशा सैफ से कहा है कि सारा-इब्राहिम और मैं सिर्फ अच्छे दोस्त हो सकते हैं। मैं कभी उनकी मां नहीं बन सकती क्योंकि उनके पास पहले से ही एक बेहतरीन मां है। जिन्होंने उन्हें बेहद प्यार और शानदार तरीके से पाला है। मैं सिर्फ उनकी दोस्त हो सकती हूं। मैं उन्हें बहुत प्यार करती हूं और जब भी उन्हें मेरी सलाह या मदद चाहिए होगी, मैं वहां उनके साथ जिंदगी के हर मोड़ पर रहूंगी।’

बक Lol

इस चिट्ठी को पढ़कर आप दर्द से भर उठेंगे

Published

on

नमस्ते पापा!

मैं उम्मीद करती हूं कि आप सब ठीक होंगे| मेरी शादी के बाद आशा करती हूं कि मेरी जगह भाभी ने ले ली होगी| वो आप सबका ख्याल  बहुत अच्छे से रख रही होंगी| उम्मीद है किसी को भी मेरी कमी महसूस नहीं हो रही होगी|
मुझे आज आपसे कुछ दिल की बातें करनी है| आपने मेरी शादी बहुत  जल्द कर दी, मुझे उस बात का दुःख था क्योंकि मैं कुछ बनना चाहती थी| लेकिन आपने घरवालों के दवाब में आकर मेरी 18 उम्र होते ही आपने मेरे हाथ पीले कर दिये| मैं तब भी कुछ नहीं बोली क्योंकि मैं जानती हूँ कि कोई माँ बाप अपनी बेटी का बुरा नहीं चाहते हैं| इसलिए मैंने आपकी इज़्ज़त और प्यार को ध्यान  में रखते हुए चुप होकर शादी भी कर ली |
पापा, जब मैं शादी करके इस घर में आई तो मैंने सोचा था कि मुझे यहाँ पर भी ऐसा ही एक परिवार मिलेगा जैसा में छोड़कर आयी हूँ, लेकिन मेरे आने के दूसरे ही दिन से मेरे साथ यहाँ पर एक जानवर की भांति बर्ताव  किया गया|
मैंने इस घर को अपना मानकर इस घर के घरवालों की बहुत सेवा की|  मैंने किसी को भी गलती या शिकायत का मौका नहीं दिया क्योंकि मैं नहीं चाहती थी जिस घर से मैं आयी हूँ उस घर की इज़्ज़त पर कोई दाग लगे, उस पर कोई सवाल उठाये।
पापा, मैं इस घर में बहुत  दःखी हूँ| मुझे नहीं पता था कि यह लोग बहू की जगह काम करने वाली नौकरानी लाये हैं| लेकिन मैंने उस बात को भी छोड़ दिया| मैंने फिर भी बहु, बेटिओ का धर्म मानकर इनके कहने पे सब किया|
दहेज़ कम लाने का उलाहना देकर जब इनको पैसों की, कपड़ों की जरूरत होती है, यह मुझे मारने लगते हैं, कमरे में बंद कर देते हैं ताकि मैं आप लोगो से कह कर इनकी माँगो को पूरा करवा सकूं|
यहाँ इनके घर में सबको नशा करने की आदत है और जब मैं इनको समझाती हूँ तो मुझे कमरे में बंद कर देते हैं, बेल्ट से मारने लगते हैं| आस पड़ोस के लोग सब कुछ जानते हैं कि मेरे साथ क्या हो रहा है| उन लोगो ने २-३ बार मुझे बचाया भी है|
पापा मुझे इस घर में रहने से अब डर लगने लगा है, पता नहीं कब यह लोग मुझे जान से मार डालें| कभी कभी जब मैं रसोई में होती हूँ तो सिलिंडर पाइप निकाल कर आग लगाने की धमकी देते हैं| मुझे यहाँ पैसों के लालच में सिरफिरे दिमाग की वजह से बहुत मारा जाता है – मुझे आकर बचालो|
मैं आज तक चुप थी क्योंकि आप सभी ने यही सिखाया था कि जहाँ से डोली उठती है वहीँ से अर्थी भी उठनी चाहिए, लेकिन अब मेरे सब्र का बांध टूट गया है|
मैंने बहुत बार यहाँ  से भागने की भी सोची लेकिन आपकी शर्म करके सब चुपचाप सहती रही| सोचा मेरी किस्मत में यही लिखा है | मैंने अपनी सब इच्छाओं सपनों को मार दिया, लेकिन अब गला ऊपर तक भर गया है।
मैं चाहती तो पोलिस स्टेशन का दरवाजा खटखटा सकती थी लेकिन आप ही ने मुझसे कहा कि चाहे कितना भी कुछ हो जाये, शरीफ और इज़्ज़तदारों की बहू -बेटी  कोर्ट -कचहरी का मुँह नहीं देखतीं, न ही दिखातीं| लेकिन में यहां घुट- घुट कर, मर-मर कर जी रही हूँ|
मैं इन नशे में धुत रहने वाले को क्या समझाऊँ, इनका कुछ नहीं पता कब अपना आपा खोकर मुझे जान से मार डालें|
अब सब कुछ आप ही के ऊपर है पापा| आप ही ने मुझे इस नर्क में भेजा है| आपकी ही वजह से मुझे नर्क जैसा जीवन मिला हैं| आपकी शर्म करते करते, इज़्ज़त को ध्यान में रखते मेरा अंत का दिन आ गया  है तो अब मैं सब कुछ आप पर ही छोड़ती हूँ |
आपने ही मुझे जन्म दिया, पाला -पोसा, बड़ा किया, पढ़ाया -लिखाया और आप ही ने मेरी इस घर में  शादी की तो अब मुझे इस नर्क जैसी जिंदगी से बहार  निकालना भी आप ही के ऊपर है|
मेरी आगे की जिंदगीआप ही के ऊपर निर्भर है|

आपकी प्यारी बेटी,

सिद्धि वर्मा |
Continue Reading

बक Lol

कोरोना काल में पॉजिटिव शब्द की भी हो गई दुर्गति

Published

on

सिद्धि वर्मा   ||   WhiteMirchi 
हमारे समाज में हम शुरुआत से यही पढ़ते आये हैं कि निगेटिव लोगों से दूर रहना चाहिए परंतु जनाब आज कलयुग ने समय परिवर्तित कर दिया है| 
जिस तरह लोगों के पास बैठने के लिए कहा जाता था| आज उन्हीं लोगों से दूर रहना पड़ रहा है| इसीलिए वेद, पुराणों, ग्रंथों में भी कहा गया है कि पाप को बढ़ावा नहीं देना चाहिए| एक समय ऐसा आएगा, जब वो घड़ा टूट जाएगा आदि-आदि| 
एक मशहूर कहावत यह भी है कि आटे के साथ घुन भी पिसता है| उसी प्रकार यदि कोई कोरोना जैसी महामारी का पॉजिटिव शिकार है और यदि हम भी उसके संपर्क में आ गए तो हम भी घुन के भाँति इस बीमारी में पिस जायँगे| 
इसलिए इस महामारी में इंसान अपने करीबी तथा सगे सम्बन्धिओं से मिलने को व्याकुल हो रहा है| लेकिन यह बीमारी ही ऐसी है जिसने सभी के बीच एक दूरी बना दी है| हर जगह यह कहने, सुनने, पढ़ने को मिलता था कि  सुरक्षित रहने के लिए हमें लोगों के पास, उनके संपर्क में रहना चाहिए| परन्तु आज ऐसी स्थिति हमारे सामने आ खड़ी हुई है कि हमें अपनी सुरक्षा के लिए तथा अन्य की सुरक्षा के लिए लोगों से दूर रहना पड़ रहा है|  
आज के समय में यह  बीमारी हमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में फ़ैल चुकी है| बड़े बड़े दिग्गज डॉ, साइंटिस्ट, रीसर्च सेंटर्स सबने हाथ खड़े कर  दिए हैं| इस वायरस के चलते लोगो ने अपने कितने सदस्यों, साथिओं को मौत के मुँह में  जाते हुए देखा है| कितने लोग इस वायरस की भेँट चढ़ गए| इस वायरस ने पूरे विश्व के लिए एक काला  समय ला दिया है|
यह एक ऐसी खतरनाक आपदा है जिसका पता हमें बहुत दिनों तक नहीं लग पता है| जब तक हम इस वायरस के लक्षणों से अवगत हो पाते हैं| उस समय तक तो हम इस संक्रमण के शिकार हो चुके होते हैं| इस वायरस में हमें यह बताया गया है कि हमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए| लेकिन भारत जैसे बड़े आबादी वाले देश में क्या हर व्यक्ति अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकता है क्योंकि यह बीमारी तो संक्रमण में आने से फैलती है| 
इस वजह से हॉस्पिटल्स के सब बेड फ़ुल हो चुके हॉस्पिटल्स में कमरों, डॉक्टर, नर्सेज की कमी आ गई है परन्तु कोरोना के मरीजों में कोई कमी नहीं आयी है| कोरोना वायरस को नियंत्रण में लाने के लिए बहुत से देशो ने लॉकडाउन किया था लेकिन उससे भी मरीजों में गिरावट नहीं आई लगातार दिन प्रतिदिन केसिस बढ़ते गए और अर्थव्यवस्था में बहोत गिरवाट आई| मज़दूर, कर्मचारी अन्य को अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा क्योंकि  फैक्ट्री, ऑफिस सभी व्यक्ति काम नहीं कर सकते हैं| इसलिए बहुत से लोगों को हटा दिया गया| 
इस वायरस की वजह से आम आदमी को बहुत से दुःखों का सामना करना पड़ा| 
जिसके पास खाने तक के लिए पैसा नहीं है वह मास्क सैनिटाइज़र जैसी चीजों का उपभोग कैसे कर पाएगा | 
जो व्यक्ति सुबह की कमाई से रात का पेट भरता था उसके लिए लॉकडाऊन जैसी स्थिति का आना  मौत के और करीब  आने जैसा है| या तो वह इस वायरस का शिकार होगा या भुखमरी का| लॉकडाऊन की घोषणा अचानक से कर  दी गयी इसीलिए जो इंसान जहाँ था उसे वहीं रुकना पड़ा| लेकिन अनेकों को भूखा भी मरना पड़ा| 
इसीलिए सुरक्षित रहिये | 
Continue Reading

बक Lol

गाय के साथ कुकर्म : क्या ऐसे बनेंगे विश्वगुरु

Published

on

तन्नु शर्मा  ||  WhiteMirchi
अब नारी के साथ साथ जानवर की इज्जत भी सुरक्षित नहीं है। हाल ही में मध्य प्रदेश के भोपाल में 55 वर्षीय ऑटो चालक साबिर अली द्वारा गाय के साथ अप्राकृतिक सेक्स करने की सीसीटीवी फुटेज वायरल हुई है। यह उस देश में हो रहा है जहां विश्वगुरु बनने के दावे किए जा रहे हैं।
खबर क्या है
यह मामला भोपाल के अशोक गार्डन पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है, जिसके बाद पुलिस कर्मियों ने CCTV फुटेज के आधार पर आरोपी साबिर अली को गिरफ्तार किया। बता दें कि उस शख्त ने यह कुकर्म 4 जुलाई की सुबह सुंदर की एक डेरी में किया, जहां उसने अप्राकृतिक तरीके से गाय के साथ संबंध बनाए। अशोक गार्डन पुलिस स्टेशन प्रभारी ने बताया कि आरोपी को पकड़ लिया गया है।
खबर में खबर क्या कहती है
हमारे समाज में जब लड़की पैदा होती है तो माता लक्ष्मी का दर्जा दिया जाता है और वही लड़की अपनी इज्जत बचाने के लिए पूरी जिंदगी लगा देती है। कभी अपनों से कभी गैरों से, कभी रोड चलते लोगों से। लड़की अपनी इज्जत बचाने के लिए भरसक प्रयत्न करती है।
गौर करें यह वही नारी है जिसे नवरात्रों में 9 दिन के लिए नौ माता के रूप में पूजा जाता है। जो 9 दिन व्रत करने के बाद उसके पैर धोए जाते हैं। यह वही नारी है जो ना हो तो सृष्टि ना चले लेकिन वहशीपन के आगे सब चुक जाता है|
बेजुबान किससे करे फरियाद
पूर्व में आये मामलों के जैसे ये भोपाल का केस भी ऐसे ही बंद हो जाएगा लेकिन कोई सोचेगा कि ऐसा हो क्यों रहा है। दूसरा कि ये बेजुबान किससे शिकायत करें। रेप चाहे नारी के साथ हो या फिर बेजुबान जानवर के साथ, रेप का मतलब तो रेप ही होता है।
इंसान की सोच को क्या हो गया है
हिंदू धर्म में गाय में 33 करोड़ देवी देवताओं का वास माना जाता है लेकिन वही गाय आज सुरक्षित नहीं है। इस सोच का क्या करें। यह इंसान की सोच पर निर्भर करता है या उसकी परवरिश पर। बेशक हम किसी की सोच नहीं बदल सकते लेकिन समाज में ऐसे कुकर्मियों के लिए कोई स्थान नहीं होना चाहिए।
शायद भगवान का डर मिट गया है
इन हरकतों को देखकर यही लगता है कि इंसान का भगवान से डर समाप्त हो गया है। यही कारण है कि आज मानव कुदरत के कहर झेलने को मजबूर है।
क्या होना चाहिए
जरूरत है कि ऐसी घटनाओं पर सरकार कुछ सख्त कानून निकाले और इन अपराधों के ऊपर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।
Continue Reading
वाह ज़िन्दगी5 hours ago

स्वामी सुदर्शनाचार्य ने क्यों कहा ‘तेरे बाप की है क्या रोटी

सिटी न्यूज़8 hours ago

मानव रचना यूनिवर्सिटी में पढ़ाया जाएगा AWS क्लाउड कंप्यूटिंग

सिटी न्यूज़8 hours ago

सीबीएसई की दसवीं परीक्षा में कुन्दन ग्रीन वैली के विद्यार्थियों का उत्कृष्ट परिणाम

सिटी न्यूज़9 hours ago

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल का 10वीं कक्षा का रिजल्ट भी शत प्रतिशत

whitemirchiexclusive1 day ago

क्यों भिड़ गए प्रियंका गाँधी और मोदी के मंत्री ?

खास खबर1 day ago

नशा तस्करी और ड्रग्स रखने के आरोप में 1821 गिरफ्तार

खास खबर1 day ago

सरस्वती नदी को जिन्दा करने के लिए सोम नदी पर बनेगा बांध

वाह ज़िन्दगी1 day ago

स्वामी सुदर्शनाचार्य ने क्यों कहा, संत और गाय एक जैसे

सिटी न्यूज़1 day ago

हार मानने को तैयार नहीं समाज सेवी संस्था

बचल खुचल1 day ago

पढ़िए कैसे सूट गुलाबी हुआ बैन?

बक Lol1 week ago

गाय के साथ कुकर्म : क्या ऐसे बनेंगे विश्वगुरु

खास खबर1 week ago

क्या चीन के डर से दलाई लामा को मोदी ने नहीं दी बधाई !

खास खबर1 week ago

कोरोना काल में मंदिर को ना, मदिरा को हाँ

खास खबर3 weeks ago

बोर्ड क्यों नहीं समझ रहा, अभी परीक्षा लेने लायक माहौल नहीं है 

खास खबर1 week ago

गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश में फरीदाबाद के ओयो होटल पर दबिश

खास खबर1 week ago

भारत में जन्मी जमात को यहाँ  क्यों मिली मात !

बक Lol2 weeks ago

क्या वाकई 15 अगस्त तक मिल जाएगा कोरोना से आज़ादी का परवाना?  

वाह ज़िन्दगी1 week ago

कांवड़ (आस्था) पर रोक… क्या अपनी करनी भुगत रहे हैं हम

खास खबर1 week ago

कोरोना : तो क्या अब सांस भी लेना बंद कर दें?

सिटी न्यूज़2 days ago

फिर लहराया कुंदन ग्रीन वैली स्कूल के विद्यार्थियों ने सफलता का परचम। 

WhiteMirchi TV4 months ago

अपनी छाती न पीटें, मजाक न उड़ाएं…. WhiteMirchi

WhiteMirchi TV4 months ago

लेजर वैली पार्क बना किन्नरों की उगाही का अड्डा WhiteMirchi

WhiteMirchi TV4 months ago

भांकरी फरीदाबाद में विद्यार्थी तेजस्वी तालीम शिविर में भाग लेंगे फौगाट स्कूल के बच्चे| WhiteMirchi

WhiteMirchi TV4 months ago

महर्षि पंकज त्रिपाठी ने दी कोरोना को लेकर सलाह WhiteMirchi

WhiteMirchi TV4 months ago

डीसी मॉडल स्कूल के छात्र हरजीत चंदीला ने किया फरीदाबाद का नाम रोशन | WhiteMirchi

WhiteMirchi TV5 months ago

हरियाणा के बच्चों को मिलेगा दुनिया घूमने का मुफ्त मौका WhiteMirchi

WhiteMirchi TV5 months ago

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV5 months ago

किसी को देखकर अनुमान मत लगाओ! हर लुंगी पहनने वाला गंवार या अनपढ़ नहीं होता!! WhiteMirchi

WhiteMirchi TV5 months ago

संभल कर चलें, जिम्मेदार सो रहे हैं। WhiteMirchi

WhiteMirchi TV5 months ago

शहीद परिवार की हालत जानकर खुद को रोक नहीं सके सतीश फौगाट। WhiteMirchi

लोकप्रिय